ICSE Hindi Specimen Paper 2023 Sec-B Sahitya Sagar Class 10

ICSE Hindi Specimen Paper 2023 Sec-B Sahitya Sagar Class 10 Solved. Step by step solutions as council prescribe guideline of model sample question paper.

ICSE Hindi Specimen Paper 2023 Sec-B Sahitya Sagar Class 10

Student can achieve their goal in next upcoming exam of council. Visit official website CISCE for detail information about ICSE Board Class-10.

ICSE Hindi Specimen Paper 2023 Sec-B Sahitya Sagar Class 10

Board ICSE
Class  10th (x)
Subject Hindi
Topic Specimen Paper Solved
Syllabus Revised Syllabus
Session 2022-23
Sec-B (Sahitya Sagar) Que-5 ,6,7,8,9,10,

साहित्य सागर्-संक्षिप्त कहानियाँ (SAHITYA SAGAR – SHORT STORIES)

ICSE Hindi Specimen Paper 2023 Sec-B

Question 5: Read the extract given below and answer in Hindi the questions that follow:

निम्नलिखित गद्दांश को पढिए और उसके नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर हिन्दी में लिखिए ।

” दोनों घंटों साथ बैठते , बातें करते ।”

(Baat Athanni Ki– Sudarshan)

(i)दोनों – शब्द से किस-किस की ओर संकेत हैं

उत्तर – प्रयुक्त गद्दांश में ‘ दोनों ‘ शब्द का प्रयोग इंजीनियर बाबू जगत सिंह के नौकर रसीला और उनके पड़ोस में रहने वाले जिला-मजिस्स्ट्रेट शेख सलीमुद्दीन के चौैकीदार रमजान के लिए किया गया है।

(i) वे दोनों किस-किस के यहाँ  काम करते थे?

उत्तर – रसीला इंजीनियर बाबू जगत सिंह के घर में काम करता था और रमजान जिला मजिस्ट्रेट शेख सलीमुद्दीन के घर चौकीदार था।

(iii)वे दोनों जिन लोगों के यहां काम करते थे, उनमें कौन-सी बात समान थी?

उत्तर- रसीला और रमजान आपस में गहरे मित्र थे। जब भी मौका मिलता दोनों बैठकर काफी देर तक बातें किया करते थे। दोनों में यहीं समानता थी कि दोनों ही गरीब थे,और एक दूसरे की सहायता करने वाले व्यक्ति थे। दोनों ही बहुत सरल स्वभाव के भी थे। छल-कपट से वे दोनों काफी दूर थे।

(iv) किस घटना से स्पष्ट होता है कि दोनों में बहुत मित्रता थी?

उत्तर- रसीला का पूरा परिवार गांव में रहता था। एक बार रसीला के बच्चे बीमार हो गए । गांव से खत आने पर उसे बच्चों की बीमारी का पता चला, परंतु उसके पास इलाज के लिए पैसे नहीं थे। रसीला ने अपने मालिक से पेशगी की उसे कुछ रूपयों की जरूरत है, मगर उसके मालिक ने रूपये नहीं दिए। जब रमजान को इस बात का पता चला, तो उसने कुछ रूपए रसीला को दिए और रसीला के बच्चों की दवा के लिए रूपयें गाँव भेज दिए । इस घटना के बाद से दोनों में बहुत गहरी मित्रता हो गई । सुख-दुख हो या कोई भी परिस्थिति में वे दोनों एक दूसरे का ख्याल रखते थे।

Question 6: Read the extract given below and answer in hindi the questions that follow

निम्नलिखित गद्दांश को पढिए और उसके नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर हिन्दी में लिखिए

उन दिनोें एक प्रथा प्रचलिथ थी। यज्ञ के फल का क्रय-विक्रय हुआ करता था।

( महायज्ञ का पुरूस्कार- यशपाल)

(i)क्रय-विक्रय शब्द का अर्थ लिखें।

उत्तर- क्रय का अर्थ है किसी चीज को खरीदना और विक्रय का अर्थ है किसी चीज को बेचना। क्रय-विक्रय में खरीदना और बेचना दोनों होता है।

(ii)यज्ञों के क्रय-विक्रय का क्या आशय है?

उत्तर- यज्ञों के क्रय-विक्रय से आशय है कि यज्ञों के पुण्य का क्रय-विक्रय किया जाता था, ताकि उसके बदले कुछ धन प्राप्त किया जा सके, ताकि उससे कुछ गरीबी दूर कर सकें।

(ii)सेठ जी यज्ञ बेचने कहाँ गये थे और क्यों?

उत्तर- सेठ जी के यहां से दस-बारह कोसकी दूरी पर कुन्दनपुर नाम का एक कस्बा था। सेठानी ने कुन्दनपुर जाकर उनके हाथ यज्ञ का पुण्य बेचने का निर्णय लिया ताकि यज्ञ के फल को बेचकर उन्हें कुछ धन प्राप्त हो सके।

(iv)सेठानी द्वारा अपना यज्ञ बेचने का सुझाव दिए जाने पर सेठ की प्रतिक्रिया हूई?

उत्तर- सेठानी ने सेठ जी से कहा कि यदि आप आज का अपना महायज्ञ बेचने को तैयार है तो हम उसे खरीद लेंगे, परन्तु सेठ जी ने महायज्ञ को बेचने से इंकार कर दिया और वह खाली हाथ लौट आये।

Question 7: Read the extract given below and answer in Hindi the question that follow

निम्नलिखित गद्दांश को पढ़िए और उसके नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर हिन्दी में लिखिए

उस भीड़-भाड़ में अचानक उसकी भेंट अरूणा से हो गई। रूनी कहकर चित्रा भीड़ की उपस्थिति कौ भूलकर अरूणा के गले लिपट गई ।

( दो कलाकार – मन्नू भंडारी )

अरूणा और चित्रा कहां पर मिली है और यहां क्यों आई है?

अरूणा के साथ कौन खड़े थे चित्रा के पूछने पर अरूणा ने क्या बताया

अरूणा ने बच्चों से क्या कहा क्या चित्रा ने उन्हें प्यार किया

बच्चों के बारे में अरूणा की बात सुनकर चित्रा क्या सोचने लगी

(साहित्य सागर – पद्द भाग)


(SAHITYA SAGAR – POEMS )

Sec-B ICSE Hindi Specimen Paper 2023

Question 8: Read the extract below and answer in Hindi the questions that follow

निम्नलिखित पद्दांश को पढ़िए और उसके नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर हिन्दी में लिखिए

धर्मराज यह  भूमि किसी की, नही क्रित है दासी,

है जन्मता समान परस्पर, इसके सभी निवासी।

सबको मुक्त प्रकाश चाहिए, सबको मुक्त समीरण,

बाधा रहित विकास, मुक्त आशंकाओँ से जीवन ।

(स्वर्ग बना सकते हैं – रामधारी सिंह दिनकर)

(i)यह कविता किसने किसको सुनाई है?

उत्तर – प्रस्तुत पंक्तियों में कवि रामधारी सिंह दिनकर जी ने धर्मराज को यह कविता सुनाई है।

(ii) कवि ने मुक्त प्रकाश और मुक्त समीकरण की इच्छा किसके लिए प्रकट की है?

उत्तर – कवि ने मुक्त प्रकाश और मुक्त समीकरण की इच्छा सभी मनुष्यों के लिए प्रकट की है। कवि के अनुसार सभी को समान रूप से सुख-साधन उपलब्ध होने चाहिए।

(iii) कवि ने मातृभूमि के बारे में क्या कहा है?

उत्तर – कवि ने मातृभूमि के बारे में कहा है कि यह भूमि किसी की खरीदी हुई दासी नहीं है। इस भूमि पर सभी का समान रूप से अधिकार है।

(iv) इस धरती पर शांति लाने के लिए क्या आवश्यक है?

उत्तर – धरती पर शांति के लिए सभी मनुष्य को समान रूप से सुख – सुविधाएं मिलनी आवश्यक है।

Question 9: Read the extract given below and answer in Hindi the questions that follow

निम्नलिखित पद्दांश को पढ़िए और उसके नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर हिन्दी में लिखिए

सात समंद की मसी करौं ,लेखनी सब बनराय ।

सब धरती कागद करौं,हरि गुण लिखा न जाए।।

( सखी – कबीरदास )

(i) सात समंद कहकर कवि  क्या स्पष्ट करना चाहते है?

उत्तर – सात समंद कहकर कवि सात समुद्र को स्पष्ट करना चाहते है।

(ii) निम्नलिखित शब्दों के अर्थ लिखें?

मसि,बनराय,कागद,लेखनी।

उत्तर – मसि – स्याही रखने का पात्र या बरतन

बनराय – वनराज

कागद – कागज

लेखनी – कलम

(iii) हरि गुण लिखा ना जाए – कबीर ने ऐसा क्यों कहा?

उत्तर – कबीरदास के अनुसार परमात्मा के गुण को नहीं लिखा जा सकता वो कहते है कि समस्त वन समूहों की लेखनी कर लूं तथा सारी पृथ्वी को कागज कर लूं तब भी परमात्मा( हरि) का गुण नहीं लिखा जा सकता है।

(iv) कबीरदास जी का संक्षिप्त परिचय लिखेँ?

उत्तर – कबीरदास जी का जन्म सन् 1398 ई0 में  गांव मगहर,वाराणसी उत्तर प्रदेश में हुआ था। इनका जन्म हिन्दू- परिवार में हूआ था। कहते हैं कि ये एक विधवा ब्राह्मणी के पुत्र थे। इनको नीरू नामक एक जुलाहा और उनकी पत्नी नीमा ने पालन-पोषण किया। इनका सम्बन्ध भक्ति काल से है। इनकी भाषा सधुक्कड़ी है। इनकी मृत्यु सन् 1519 में मगहर में हुई। इनकी प्रमुख कृतियां – बीजक, साखी, सबद , रमैनी है।

Question 10: Read the extract given below and answer in Hindi the question that follow

निम्नलिखित पद्दांश को पढ़िए और उसके नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर हिन्दी में लिखिए

साईं सब संसार में,मतलब का व्यवहार।

जब लग पैसा गांठ में, तब लग ताकों यार।।

तब लग ताकों यार, यार संग ही संग डोल।

पासा रहे ना पास, यार मुख से नहीें बोलें।

कह गिरधर कविराय जगत यही लेखा भाई।

करत बेगरजी प्रिति,यार बिरला कोई साईं।।

(गिरधर की कंडलियां – गिरिधर कविराय)

(i) संसार में लोग कैसा व्यवहार करते हैं?

उत्तर – संसार में लोग मतलब का व्यवहार रखते है।

(ii) लोग मित्र किसे बनाते हैं और क्यों?

उत्तर – लोग मित्र उसे बनाते हैं जिसके पास पैसा होता है।

(iii) लोग किन से बातें करना पसंद नहीं करते और क्यों?

उत्तर- जिसके पास पैसे नहीं होते लोग उनसे बात करना और व्यवहार रखना बन्द कर देतें है।

(iv) किस प्रकार के लोग बिरला होते है समझाइए?

उत्तर – बिना काम के जो लोग आपसे दोस्ती रखते है वो लोग बिरला होते है।

–: End of ICSE Hindi Specimen Paper 2023 Sec-B:–

Return to : ICSE Specimen Paper 2023 Solved

Thanks

You might also like
Leave a comment